Wednesday, November 30, 2022

पत्नी-बच्चे के सामने व्यापारी को पीट-पीट कर मार डाला ,,,देर रात 15 से ज्यादा नक्सली घर में घुसे ,,,, बाहर खड़ा लोडिंग वाहन भी फूंका ….

Must Read

माओवादियों ने ग्रामीण की हत्या कर दी है

सुकमा जिले में रात को 15 से ज्यादा नक्सलियों ने एक ग्रामीण व्यापारी की हत्या कर दी है। आधी रात घर में घुसकर पत्नी और बच्चे के सामने डंडे से पीट-पीटकर ग्रामीण को मार डाला। नक्सलियों ने घर के सामने खड़े व्यवसायी के पिकअप में भी आग लगा दी। सूचना मिलने के बाद सुबह जवानों की एक टीम गांव पहुंची है। बताया जा रहा है कि, करीब 50 की संख्या में नक्सली गांव में पहुंचे थे। मामला पोलमपल्ली थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, पोलमपल्ली का रहने वाला मड़कम जोगा गांव में ही किराने की दुकान चलाता था। गुरुवार देर रात जब मड़कम अपने परिवार के साथ घर पर सो रहा था तो उसी समय करीब 15-16 नक्सली घर में घुस आए। मड़कम को उठाया। पत्नी और बच्चे को पकड़ कर रखा था। फिर मड़कम की डंडे से पिटाई की गई। पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए उसे इतना मारा गया कि उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद नक्सलियों ने पिकअप वाहन का डीजल टैंक तोड़कर आग लगा दी।

वाहन में भी आग लगा दी।

हत्या के बाद गांव में फेंके पर्चे नक्सलियों ने पोलमपल्ली थाना से करीब 500 मीटर की दूरी पर ही वारदात को अंजाम दिया ही। इधर, रात में रोने की आवाज सुनकर आसपास में रहने वाले लोग भी मौके पर पहुंच गए। जिन्होंने वारदात की जानकारी पुलिस को दी। माओवादियों ने गांव में पर्चे भी फेंके हैं। पर्चे में नक्सलियों ने व्यवसायी की हत्या करने की जिम्मेदारी ली है। फिलहाल पुलिस परिजनों से पूछताछ कर रही है।सुकमा के SP सुनील शर्मा ने बताया कि, मामले की जांच चल रही है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि यह नक्सल वारदात है या फिर आपसी रंजिश की वजह से हत्या की गई है।

More Articles Like This

माओवादियों ने ग्रामीण की हत्या कर दी है

सुकमा जिले में रात को 15 से ज्यादा नक्सलियों ने एक ग्रामीण व्यापारी की हत्या कर दी है। आधी रात घर में घुसकर पत्नी और बच्चे के सामने डंडे से पीट-पीटकर ग्रामीण को मार डाला। नक्सलियों ने घर के सामने खड़े व्यवसायी के पिकअप में भी आग लगा दी। सूचना मिलने के बाद सुबह जवानों की एक टीम गांव पहुंची है। बताया जा रहा है कि, करीब 50 की संख्या में नक्सली गांव में पहुंचे थे। मामला पोलमपल्ली थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के मुताबिक, पोलमपल्ली का रहने वाला मड़कम जोगा गांव में ही किराने की दुकान चलाता था। गुरुवार देर रात जब मड़कम अपने परिवार के साथ घर पर सो रहा था तो उसी समय करीब 15-16 नक्सली घर में घुस आए। मड़कम को उठाया। पत्नी और बच्चे को पकड़ कर रखा था। फिर मड़कम की डंडे से पिटाई की गई। पुलिस की मुखबिरी करने का आरोप लगाते हुए उसे इतना मारा गया कि उसकी मौत हो गई। हत्या के बाद नक्सलियों ने पिकअप वाहन का डीजल टैंक तोड़कर आग लगा दी।

वाहन में भी आग लगा दी।

हत्या के बाद गांव में फेंके पर्चे नक्सलियों ने पोलमपल्ली थाना से करीब 500 मीटर की दूरी पर ही वारदात को अंजाम दिया ही। इधर, रात में रोने की आवाज सुनकर आसपास में रहने वाले लोग भी मौके पर पहुंच गए। जिन्होंने वारदात की जानकारी पुलिस को दी। माओवादियों ने गांव में पर्चे भी फेंके हैं। पर्चे में नक्सलियों ने व्यवसायी की हत्या करने की जिम्मेदारी ली है। फिलहाल पुलिस परिजनों से पूछताछ कर रही है।सुकमा के SP सुनील शर्मा ने बताया कि, मामले की जांच चल रही है। जांच के बाद ही पता चल पाएगा कि यह नक्सल वारदात है या फिर आपसी रंजिश की वजह से हत्या की गई है।