Sunday, October 2, 2022

नक्सलियों ने निर्माण कार्य में लगे वाहनों में लगाई आग ,,,वर्दीधारियों के साथ सादे कपड़े में पहुंचे थे नक्सली

Must Read

नक्सलियों ने निर्माण कार्य में लगे वाहनों में लगाई आग ,,,वर्दीधारियों के साथ सादे कपड़े में पहुंचे थे नक्सली

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सोमवार को निर्माण कार्य में लगे दो वाहनों में आग लगा दी। वर्दीधारियों के साथ सादे कपड़े में पहुंचे हथियार बंद नक्सलियों ने वाहनों के डीजल टैंक को फोड़कर उन्हें फूंक दिया। बताया जा रहा है कि ठेकेदार दोनों वाहनों को बिना सुरक्षा में लेकर जा रहा था। मामला किस्टाराम थाना क्षेत्र का है। वारदात की पुष्टि एसपी सुनील शर्मा ने की है।

जानकारी के मुताबिक, ठेकेदार निर्माण कार्य के लिए पोकलेन और शिफ्टर वाहन लेकर जा रहा था। अभी वो सिन्दूरगुड़ा गांव में नाले के पास पहुंचा था कि पहले से घात लगाए नक्सलियों ने रोक लिया। इसके बाद चालकों को नीचे उतारा और दोनों वाहनों में आग लगा दी। वारदात के बाद नक्सलियों ने ठेकेदार के मुंशी और चालक का मोबाइल छीन कर उन्हें भगा दिया।

दोनों ने पुलिस को बताया कि गाड़ी जलाने के दौरान 8-10 लोग सादे कपड़ों में पहुंचे थे। उनके पास वायरलेस सेट के साथ ही हंसिया, कुल्हाड़ी आदि हथियार थे। इसके अलावा वर्दीधारी नक्सली जंगल में घात लगाकर छिपे हुए थे। नक्सली 3 अगस्त क शहीदी सप्ताह मना रहे थे। इसके बाद नक्सलियों ने फिर से उत्पात मचाना शुरू कर दिया है।

More Articles Like This

नक्सलियों ने निर्माण कार्य में लगे वाहनों में लगाई आग ,,,वर्दीधारियों के साथ सादे कपड़े में पहुंचे थे नक्सली

छत्तीसगढ़ के सुकमा में नक्सलियों ने सोमवार को निर्माण कार्य में लगे दो वाहनों में आग लगा दी। वर्दीधारियों के साथ सादे कपड़े में पहुंचे हथियार बंद नक्सलियों ने वाहनों के डीजल टैंक को फोड़कर उन्हें फूंक दिया। बताया जा रहा है कि ठेकेदार दोनों वाहनों को बिना सुरक्षा में लेकर जा रहा था। मामला किस्टाराम थाना क्षेत्र का है। वारदात की पुष्टि एसपी सुनील शर्मा ने की है।

जानकारी के मुताबिक, ठेकेदार निर्माण कार्य के लिए पोकलेन और शिफ्टर वाहन लेकर जा रहा था। अभी वो सिन्दूरगुड़ा गांव में नाले के पास पहुंचा था कि पहले से घात लगाए नक्सलियों ने रोक लिया। इसके बाद चालकों को नीचे उतारा और दोनों वाहनों में आग लगा दी। वारदात के बाद नक्सलियों ने ठेकेदार के मुंशी और चालक का मोबाइल छीन कर उन्हें भगा दिया।

दोनों ने पुलिस को बताया कि गाड़ी जलाने के दौरान 8-10 लोग सादे कपड़ों में पहुंचे थे। उनके पास वायरलेस सेट के साथ ही हंसिया, कुल्हाड़ी आदि हथियार थे। इसके अलावा वर्दीधारी नक्सली जंगल में घात लगाकर छिपे हुए थे। नक्सली 3 अगस्त क शहीदी सप्ताह मना रहे थे। इसके बाद नक्सलियों ने फिर से उत्पात मचाना शुरू कर दिया है।