Wednesday, May 25, 2022

2 जनवरी ताप विद्युत गृह तेंदुभाटा मडवा में घटी घटना को लेकर जिले के सांसद व विधायकों ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

Must Read

2 जनवरी ताप विद्युत गृह तेंदुभाटा मडवा में घटी घटना को लेकर जिले के सांसद व विधायकों ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

जांजगीर चांपा जिला स्थित ताप विद्युत गृह मांडवा प्लांट में 2 जनवरी को भू स्थापितो द्वारा आंदोलन के दौरान घटी आगजनी जैसी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए जिले के दो बीजेपी विधायक और भाजपा सांसद द्वारा भू स्थापितो के ऊपर लगाई गई गंभीर धाराओं को सरकार को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि विस्थापितों से बातचीत करने के लिए सरकार का रास्ता अभी भी स्थापितो के साथ खुला हुआ है उनके ऊपर लगाई गई डकैती जैसे गंभीर धाराएं को सरकार द्वारा हटाना चाहिए जिस समय प्लांट लगाई गई थी उसी समय विस्थापितों के साथ अनुबंध हुआ था कि उनके जमीन के अधिग्रहण के बदले मुआवजा के साथ साथ उसे स्थाई नौकरी दिया जाएगा लेकिन सरकार के द्वारा अपने वादे को नहीं निभाते हुए उन्हें नौकरी स्थाई रूप से नहीं दी गई इस वजह से भू विस्थापितों द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए या आंदोलन का रुख अपनाना पड़ा इस तरह की घटना बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण है इस पर सरकार को गंभीर चर्चा करनी चाहिए और बातचीत से मसले को निपटाना चाहिए।

More Articles Like This

2 जनवरी ताप विद्युत गृह तेंदुभाटा मडवा में घटी घटना को लेकर जिले के सांसद व विधायकों ने किया प्रेस कॉन्फ्रेंस

जांजगीर चांपा जिला स्थित ताप विद्युत गृह मांडवा प्लांट में 2 जनवरी को भू स्थापितो द्वारा आंदोलन के दौरान घटी आगजनी जैसी घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए जिले के दो बीजेपी विधायक और भाजपा सांसद द्वारा भू स्थापितो के ऊपर लगाई गई गंभीर धाराओं को सरकार को वापस लेने की मांग करते हुए कहा कि विस्थापितों से बातचीत करने के लिए सरकार का रास्ता अभी भी स्थापितो के साथ खुला हुआ है उनके ऊपर लगाई गई डकैती जैसे गंभीर धाराएं को सरकार द्वारा हटाना चाहिए जिस समय प्लांट लगाई गई थी उसी समय विस्थापितों के साथ अनुबंध हुआ था कि उनके जमीन के अधिग्रहण के बदले मुआवजा के साथ साथ उसे स्थाई नौकरी दिया जाएगा लेकिन सरकार के द्वारा अपने वादे को नहीं निभाते हुए उन्हें नौकरी स्थाई रूप से नहीं दी गई इस वजह से भू विस्थापितों द्वारा नाराजगी व्यक्त करते हुए या आंदोलन का रुख अपनाना पड़ा इस तरह की घटना बड़ी दुर्भाग्यपूर्ण है इस पर सरकार को गंभीर चर्चा करनी चाहिए और बातचीत से मसले को निपटाना चाहिए।