Uncategorized

पाकिस्तान की जेल में 6 साल से था बंद घनश्याम, सकुशल पहुँचा घर

Advertisement

जांजगीर. पाकिस्तान (Pakistan) की जेल (Jail) में बंद छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के जांजगीर चांपा (Janjgir Champa) जिले का युवक जेल से रिहा कर दिया गया है. पिछले 5 साल से युवक को छुड़ाने के लिए उसके परिजन भारत सरकार व जिले के अधिकारीयों से गुहार लगा रहे थे. जांजगीर-चांपा जिले के मालखरौदा थाना क्षेत्र के ग्राम पिहरीद में रहने वाला घनश्याम जाटवर वर्ष 2014 में अपने परिवार के साथ जम्मू के नवाशहर के ईंट भट्ठे में कमाने-खाने गया था. बताया जा रहा है कि 14 अप्रेल 2014 को अचानक कहीं चला गया था. घनश्याम मानसिक रूप से कमजोर था. घनश्याम के परिजनों काफी खोजबीन किये पर उसका कहीं पता नहीं चला.

कुछ दिनों बाद घनश्याम के परिजनों को भारत की सीमा पर ड्यूटी कर रहे बीएसएफ के लोगों से पता चला कि घनश्याम भारत की बॉर्डर पार कर पाकिस्तान की सीमा में चला गया है. तब से परिवार वाले वापस जांजगीर चांपा जिले के अपने घर ग्राम पिहरीद आ गए और विदेश मंत्रालय सहित जिले के अधिकारियों के माध्यम से लगातार घनश्याम कि वापसी के लिए पत्राचार करते हुए सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहे थे.

सरकार ने मंगाई थी जानकारी

वर्ष 2019 में घनश्याम के परिजनों को मालखरौदा थाने के माध्यम से पता चला कि घनश्याम पकिस्तान के इस्लामाबाद जेल में बन्द है और भारत सरकार को पकिस्तान से एक पत्र प्राप्त हुआ है, जिसमें लापता घनश्याम जाटवर की जानकारी मंगाई गई है. जांजगीर एसपी पारुल माथुर ने भारत सरकार द्वारा चाही गई जानकारी घनश्याम के परिजनों से पूरा कर भेज दिया गया था. दस्तावेजी प्रक्रिया पूरा होने के बाद घनश्याम को वापस लाने के लिए जांजगीर पुलिस और जिला प्रशासन की टीम को रवाना किया गया था. बीते 10 नवंबर की रात पुलिस और जिला प्रशासन की टीम, घनश्याम को सकुशल वापस लेकर जांजगीर पहुंची है.

Related Articles

Back to top button