Saturday, February 4, 2023

दंतैल के उत्पात से सहमे ग्रामीण खडफ़ड़ी गांव में तोड़ा दो मकान ,,,इलाके में दहशत का माहौल

Must Read

दंतैल के उत्पात से सहमे ग्रामीण खडफ़ड़ी गांव में तोड़ा दो मकान ,,,इलाके में दहशत का माहौल

कोरबा। कटघोरा वनमंडल के कोरबी सर्किल में बीती रात उत्पात मचाते हुए दंतैल ने खडफ़ड़ी गांव में फिर दो घरों को तोड़ दिया। सूचना मिलने पर वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे और उत्पाती दंतैल को पहाड़ की ओर खदेड़ा। दंतैल के जाने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। इससे पहले ग्रामीण दंतैल के उत्पात से काफी सहमे रहे। जानकारी के अनुसार क्षेत्र में सक्रिय हाथियों के झुंड से एक उत्पाती दंतैल अलग होकर कोरबी सर्किल पहुंच गया है। इस दंतैल ने पिछले तीन दिनों से लगातार उत्पात मचाकर ग्रामीणों तथा वन विभाग के नाक में दम कर रखा है। दंतैल दिन भर जंगल में विश्राम करने के बाद रात होते ही वहां से बाहर निकलता है और बस्ती में प्रवेश कर भारी उत्पात मचाता है। इस दौरान वह ग्रामीणों के घरों को तोडऩे से भी नहीं चुकता। दंतैल के उत्पात से क्षेत्रवासी काफी हलाकान हैं। हालांकि वन विभाग द्वारा इस दंतैल को रोकने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन दंतैल स्टाफ को चकमा देकर बस्ती में पहुंच जा रहा है और कोई न कोई नुकसान पहुंचा रहा है। बती रात साढ़े 12 बजे के लगभग यह दतैल सर्किल के खडफ़ड़ी गांव में फिर पहुंच गया और उत्पात मचाते हुए सेवाराम तथा बृजलाल नामक दो ग्रामीणों के मकान को ढहा दिया। ये दोनों मकान बस्ती के अंतिम छोर पर स्थित था। मकान मालिक व उसके परिवार ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। रात में दंतैल के बस्ती में घुसने व उत्पात मचाए जाने की सूचना कोरबी के डिप्टी रेंजर श्री साहू व उनके स्टाफ को दी गई जिस पर वे तत्काल हाथी मित्र दल के सदस्यों के साथ गांव पहुंचे और उत्पाती दंतैल को खदेडऩे की कार्रवाई की। वन अमला द्वारा खदेड़े जाने पर दंतैल पहाड़ी पर जाकर छिप गया। अत्यधिक बारिश की वजह से स्टाफ रात में वापस लौट गए लेकिन सुबह बारिश के थमने पर फिर गांव पहुंचा और हाथियों द्वारा रात में किये गए नुकसानी का सर्वे करने के साथ ही रिपोर्ट तैयार की जिसे मुआवजा स्वीकृति के लिए कटघोरा डिविजन भेजा जा रहा है।

More Articles Like This

दंतैल के उत्पात से सहमे ग्रामीण खडफ़ड़ी गांव में तोड़ा दो मकान ,,,इलाके में दहशत का माहौल

कोरबा। कटघोरा वनमंडल के कोरबी सर्किल में बीती रात उत्पात मचाते हुए दंतैल ने खडफ़ड़ी गांव में फिर दो घरों को तोड़ दिया। सूचना मिलने पर वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी मौके पर पहुंचे और उत्पाती दंतैल को पहाड़ की ओर खदेड़ा। दंतैल के जाने के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। इससे पहले ग्रामीण दंतैल के उत्पात से काफी सहमे रहे। जानकारी के अनुसार क्षेत्र में सक्रिय हाथियों के झुंड से एक उत्पाती दंतैल अलग होकर कोरबी सर्किल पहुंच गया है। इस दंतैल ने पिछले तीन दिनों से लगातार उत्पात मचाकर ग्रामीणों तथा वन विभाग के नाक में दम कर रखा है। दंतैल दिन भर जंगल में विश्राम करने के बाद रात होते ही वहां से बाहर निकलता है और बस्ती में प्रवेश कर भारी उत्पात मचाता है। इस दौरान वह ग्रामीणों के घरों को तोडऩे से भी नहीं चुकता। दंतैल के उत्पात से क्षेत्रवासी काफी हलाकान हैं। हालांकि वन विभाग द्वारा इस दंतैल को रोकने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन दंतैल स्टाफ को चकमा देकर बस्ती में पहुंच जा रहा है और कोई न कोई नुकसान पहुंचा रहा है। बती रात साढ़े 12 बजे के लगभग यह दतैल सर्किल के खडफ़ड़ी गांव में फिर पहुंच गया और उत्पात मचाते हुए सेवाराम तथा बृजलाल नामक दो ग्रामीणों के मकान को ढहा दिया। ये दोनों मकान बस्ती के अंतिम छोर पर स्थित था। मकान मालिक व उसके परिवार ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचाई। रात में दंतैल के बस्ती में घुसने व उत्पात मचाए जाने की सूचना कोरबी के डिप्टी रेंजर श्री साहू व उनके स्टाफ को दी गई जिस पर वे तत्काल हाथी मित्र दल के सदस्यों के साथ गांव पहुंचे और उत्पाती दंतैल को खदेडऩे की कार्रवाई की। वन अमला द्वारा खदेड़े जाने पर दंतैल पहाड़ी पर जाकर छिप गया। अत्यधिक बारिश की वजह से स्टाफ रात में वापस लौट गए लेकिन सुबह बारिश के थमने पर फिर गांव पहुंचा और हाथियों द्वारा रात में किये गए नुकसानी का सर्वे करने के साथ ही रिपोर्ट तैयार की जिसे मुआवजा स्वीकृति के लिए कटघोरा डिविजन भेजा जा रहा है।