Wednesday, May 25, 2022

सागौन की अवैध कटाई,,, विभाग बना मूकदर्शक…ब

Must Read

नगर के सटे इलाके में हो रही सागौन की अवैध कटाई,,, विभाग बना मूकदर्शक…

(संवाददाता सिरोज विश्वकर्मा)

बीजापुर । बीजापुर जिले के भोपालपटनम नगर पंचायत क्षेत्र में सुभाष चंद्र बोस वार्ड से सटे बफर जोन के जंगलों में इन दिनों बड़ी मात्रा में सागौन पेड़ों के काटने का सिलसिला चल रहा है। वार्ड से लगे जंगल में दिन रात कटाई चल रही हैं। चौकाने वाली बात यह है कि जिस जगह पेड़ काटे जा रहे है, उसके महज 500 मीटर की दूरी में फारेस्ट चेक पोस्ट है। इतने करीब वन विभाग की 24 घंटे तैनाती के बावजूद इस तरह बफर जोन में अवैध कटाई विभाग के सांठगांठ की ओर इशारा करती है।

सूत्र बताते है कि विभाग को इसकी भनक भी है मगर जानकारी होने के बाद भी वन माफियों पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है जिससे जंगलों से बेशकीमती सगौन के विशाल पेड़ समाप्त होते जा रहे हैं। वार्ड के कुछ निवासियों ने बताया कि इस क्षेत्र में रोजाना वन माफिया सागौन को काटकर ले जा रहे हैं। कुल्हाड़ी-आरी चलाने के आवाज सुनाई देती है। कार्रवाई नहीं होने की वजह से तस्करों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं और बेखौफ होकर दिनदहाड़े पेड़ों को काट रहे हैं। वन विभाग की लापरवाही की वजह से दिनोंदिन हरे भरे जंगल उजाड़ हो रहे है।

रात के अंधेरे में होती है ढुलाई।
सूत्रों के मुताबित दिन में वन माफिया के लोग जंगल में कटाई करते हैं और जैसे ही रात होती है तो वाहनों से लकड़ी की ढुलाई की जाती है।इस तरह आए दिन कीमती लकड़ी की तस्करी की जाती है।ऐसे कृत्य पर विभाग की ओर उंगली उठना लाजिम है।तस्करों को सीधे दौर पर छूट दी जा रही है।

More Articles Like This

नगर के सटे इलाके में हो रही सागौन की अवैध कटाई,,, विभाग बना मूकदर्शक…

(संवाददाता सिरोज विश्वकर्मा)

बीजापुर । बीजापुर जिले के भोपालपटनम नगर पंचायत क्षेत्र में सुभाष चंद्र बोस वार्ड से सटे बफर जोन के जंगलों में इन दिनों बड़ी मात्रा में सागौन पेड़ों के काटने का सिलसिला चल रहा है। वार्ड से लगे जंगल में दिन रात कटाई चल रही हैं। चौकाने वाली बात यह है कि जिस जगह पेड़ काटे जा रहे है, उसके महज 500 मीटर की दूरी में फारेस्ट चेक पोस्ट है। इतने करीब वन विभाग की 24 घंटे तैनाती के बावजूद इस तरह बफर जोन में अवैध कटाई विभाग के सांठगांठ की ओर इशारा करती है।

सूत्र बताते है कि विभाग को इसकी भनक भी है मगर जानकारी होने के बाद भी वन माफियों पर किसी भी प्रकार की कार्रवाई नहीं की जा रही है जिससे जंगलों से बेशकीमती सगौन के विशाल पेड़ समाप्त होते जा रहे हैं। वार्ड के कुछ निवासियों ने बताया कि इस क्षेत्र में रोजाना वन माफिया सागौन को काटकर ले जा रहे हैं। कुल्हाड़ी-आरी चलाने के आवाज सुनाई देती है। कार्रवाई नहीं होने की वजह से तस्करों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं और बेखौफ होकर दिनदहाड़े पेड़ों को काट रहे हैं। वन विभाग की लापरवाही की वजह से दिनोंदिन हरे भरे जंगल उजाड़ हो रहे है।

रात के अंधेरे में होती है ढुलाई।
सूत्रों के मुताबित दिन में वन माफिया के लोग जंगल में कटाई करते हैं और जैसे ही रात होती है तो वाहनों से लकड़ी की ढुलाई की जाती है।इस तरह आए दिन कीमती लकड़ी की तस्करी की जाती है।ऐसे कृत्य पर विभाग की ओर उंगली उठना लाजिम है।तस्करों को सीधे दौर पर छूट दी जा रही है।