Uncategorized

Advertisement

प्रथम महिला शिक्षिका सावित्रीबाई फुले शिक्षा क्षेत्र में योगदान शत शत नमन

सावित्रीबाई भुले ने शिक्षा क्षेत्र में कई उल्लेखनीय कार्य किए तथा समाज सुधारिका एवं मराठी कवियत्री थीं।

सविर्तक न्यूज सावित्रीबाई भुले  (3 जनवरी 1831 – 10 मार्च 1897) भारत की प्रथम महिला शिक्षिका, समाज सुधारिका एवं मराठी कवियत्री थीं। उन्होंने अपने पति ज्योतिराव गोविंदराव फुले के साथ मिलकर स्त्री अधिकारों एवं शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किए। वे प्रथम महिला शिक्षिका थीं। उन्हें आधुनिक मराठी काव्य का अग्रदूत माना जाता है। 1852 में उन्होंने बालिकाओं के लिए एक विद्यालय की स्थापना की।

सावित्रीबाई फुले चौक, पुणे

Related Articles

Back to top button