अपराधछत्तीसगढ़बिलासपुर

सगे चाचा ने 8 साल की भतीजी को बनाया हवस का शिकार

Advertisement

दलित की नाबालिग बेटी को अगवा कर लगातार 3 दिन तक करता रहा दुष्कर्म-:◆

20-अक्टूबर,2020

बिलासपुर-{जनहित न्यूज़} छत्तीसगढ़ में भी एक दलित की नाबालिग बेटी के साथ बलात्कार हुआ है और बलात्कारी उसका सगा चाचा है । हाथरस मामले में देश भर में हंगामा मचने का मतलब यह नहीं कि अब ऐसे मामले थम गए हैं बस यही है कि इस मामले में उस स्तर पर राजनीति नहीं होगी। सरगांव थाना क्षेत्र के देवारपारा में रहने वाले सगे चाचा ने रिश्तो को कलंकित करते हुए अपनी ही 8 साल की भतीजी के साथ मुंह काला किया। देवारपारा में रहकर रोजी मजदूरी और गुजर- बसर करने वाले देवार परिवार की 8 साल की बच्ची को किसी बात पर बीते शनिवार को उसकी मां ने डांट दिया था, जिससे वह नाराज होकर घर से निकल आई थी। यह बच्ची भी मोहल्ले में पन्नी बीनने का काम करती है। मौका पाकर उसका 20 वर्षीय चाचा बुथरु देवार उसे घुमाने और चॉकलेट दिलाने के नाम पर अपने साथ मदकू द्वीप ले गया, जहां 3 दिन तक वह अपनी ही सगी भतीजी के साथ मुंह काला करता रहा। इस दौरान बच्ची का परिवार लगातार बच्ची की तलाश कर रहा था।
इसी खोजबीन के दौरान बुथरु देवार के साथ 8 साल की बच्ची नारायणपुर में मिली। जैसे ही बच्ची का सामना परिजनों के साथ हुआ मौका देखकर बुथरु देवार भाग खड़ा हुआ। बाद में बच्ची ने आपबीती सुनाई जिसके बाद बच्ची के माता-पिता ने सरगांव थाने में शिकायत दर्ज कराई है । भतीजी के साथ 3 दिनों तक बलात्कार करने वाले चाचा बुथरु देवार को पकड़ने सरगांव पुलिस की एक टीम रवाना हुई है। बेटियां तो अब घर में भी सुरक्षित नहीं रह गई है। जब पिता जैसे चाचा ही उनकी अस्मत लूटने उतारू हो जाए तो फिर उनकी रक्षा कौन करेगा ?

Related Articles

Back to top button