छत्तीसगढ़

गुरुघासीदास जयंती कार्यक्रम गुरुपर्व मेले के आयोजन अवसर पर 18 दिसम्बर को कार्यक्रम के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अतिथि होंगे।

Advertisement

मुंगेली आयोजन समिति के निमंत्रण को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्वीकार किया
मुंगेली। गुरुघासीदास जयंती कार्यक्रम एक दिवसीय गुरुपर्व मेले के आयोजन अवसर पर 18 दिसम्बर को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे।

आयोजन समिति के अध्यक्ष दुर्गा बघेल सहित थानेश्वर साहू अध्यक्ष पिछड़ा वर्ग आयोग, पूर्व विधायक चुरावन मंगेशकर, लोरमी विधानसभा के छाया विधायक शत्रुहन सोनू चंद्राकर, रेखचन्द कोशले, रूपलाल कोसरे ने आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बिलासपुर प्रवास पर भेंट कर कार्यक्रम में आने का निवेदन किया मुख्यमंत्री श्री बघेल ने निमंत्रण स्वीकार कर गुरुपर्व मेले के प्रथम दिवस 18 दिसंबर गुरुघासीदास जयंती में आने की सहमति दी।
18 दिसंबर को आयोजित अमर टापू धाम मोतिमपुर में प्रातः 8 बजे से सतनाम चौका आरती पूजा कार्यक्रम होगा। इस अवसर पर सतनाम भजन कार्यक्रम गायिका श्रीमती प्रतिमा बारले एवं साथियों द्वारा किया जाएगा।रात्रि में छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध गायक दुष्यंत हरमुख द्वारा रंग झरोखा छत्तीसगढ़ सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया जाएगा।

बता दें छत्तीसगढ़ राज्य के जिला मुंगेली के ग्राम मोतीमपुर का महत्व अपने प्रकृतिक संरचना एवं सामाजिक धार्मिक विश्वास और श्रद्धा के केंद्र के रूप में निरंतर प्रगति पर है। ग्राम पंडरिया के समीप भुरकुंड पहाड़ से आगर नदी का उद्गम एवं लंबी दूरी के साथ शिवनाथ नदी पर संगम का दृश्य मनोहारी है। निर्मल जल के मध्य एक द्वीप जैसा स्थान विकसित है। इसके कारण इसका सौन्दर्य पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है।

मुंगेली जिले के अमर टापू धाम के नाम से प्रसिद्ध मोतिमपुर में 1996 से प्रतिवर्ष 18 दिसंबर को गुरुपर्व मेले के रूप में गुरु घासीदास जयंती कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। मुंगेली जिले में अब अमर टापू धाम का मेला सबसे बड़ा मेला जैसा माना जाने लगा है।तीन दिवसीय गुरुपर्व मेले में लगभग 50 हजार लोगों की उपस्थिति रहती हैं।

Related Articles

Back to top button