Saturday, October 1, 2022

अनुशासनहीनता करने वाला ASI लाइन अटैच, आईजी से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई, क्या है मामला, पढ़े पूरी खबर…..

Must Read

अनुशासनहीनता करने वाला ASI लाइन अटैच, आईजी से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई, क्या है मामला, पढ़े पूरी खबर…..

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में पुलिस पर गंभीर आरोप लगने के बाद SP ने ASI को लाइन अटैच कर दिया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच के लिए सिटी कोतवाली CSP को निर्देशित किया है। दरअसल आरोपी ने असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पर उसे लात-घूंसों से पीटने से सर फटने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही उससे और 4 अन्य आरोपियों से 10 हजार रुपए मांगने का आरोप भी लगाया है। SP ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए यह कार्रवाई की है। मामला कोनी थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार बीते 24 जुलाई को कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम पौंसरा के शराब दुकान में घुसकर युवकों ने सेल्समेन दुर्गा प्रसाद केवट की डंडे से पिटाई कर दी थी। सेल्समेन की रिपोर्ट पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी थी। इस मामले में एक आरोपी को पहले ही गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने आरोपी युवक का चोट छिपाने के लिए उसके सिर में गमछा लगवा दिया।

मंगलवार को ASI गुलाब पटेल ने बचे हुए चार आरोपियों को गिरफ्तारी देने के लिए थाने बुलाया था। इनमें से पौंसरा के आवास पारा निवासी चैन सिंह ठाकुर (30) बुधवार की सुबह 11 बजे सरेंडर करने थाने पहुंचा। इसी दौरान उससे मारपीट की गई है। ऐसा आरोप चैन सिंह ठाकुर ने लगाया है।

घटना के बारे में किसी को कुछ न बताने के लिए कहा गया

आरोपी चैन सिंह का कहना है कि ASI गुलाब पटेल ने लात-घूंसों से उसकी पिटाई की, जिससे उसका सिर दीवार से टकराकर फट गया और वह लहूलुहान हो गया। उसकी हालत देखकर थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। उसे फौरन इलाज के लिए CIMS ले जाया गया। इलाज के लिए लेकर जाते समय उससे कहा गया कि वह घटना के बारे में किसी से कुछ न बताए। CIMS में भी डॉक्टर से ASI ने कहा कि वह गिर कर घायल हो गया है। डॉक्टर ने चैन सिंह से पूछा तो उसने अपने साथ हुई मारपीट की घटना की जानकारी दी। हालांकि डॉक्टर ने पर्ची में चोट का कारण गिरना ही लिखा है। उसके सिर में 6 टांके लगे हैं।

आरोपी की पिटाई करने का मामला कोनी थाने का है।

IG से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई
आरोपी चैन सिंह और उसके परिजन गुरुवार को इस मामले की शिकायत करने IG ऑफिस पहुंचे। यहां चैन सिंह ने अपने सिर में आई चोटों को दिखाया और कहा कि थाने के CCTV फुटेज की जांच से स्पष्ट हो जाएगा कि वह सही सलामत थाने पहुंचा था या पहले से चोट लगी थी। उसने अपने शिकायत में पूरी घटना की जानकारी दी और ASI गुलाब पटेल पर रुपए मांगने के आरोप लगाए। इधर,IG तक शिकायत पहुंचने के बाद SP पारुल माथुर ने मामले को गंभीरता से लिया। उन्होंने ASI पर लगे आरोपों को अनुशासनहीनता और कर्तव्य के प्रति लापरवाही मानते हुए उसे लाइन अटैच कर दिया है। इसके साथ ही मामले की जांच के लिए सिटी कोतवाली CSP स्नेहिल साहू को जांच के लिए आदेशित किया है।

वाहवाही लूटने पुलिस ने गिरफ्तार करने मीडिया में दी जानकारी
कोनी TI सुखनंदन पटेल ने शराब दुकान में सेल्समेन की पिटाई करने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि 26 जुलाई को आरोपी जनक सिंह उर्फ सुजीत को गिरफ्तार किया गया था। उनसे पूछताछ में अपने साथियों का नाम बताया था। इसके बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। बुधवार को मुखबिर की सूचना पर पौंसरा के आवासपारा निवासी चैन सिंह ठाकुर, पौंसरा के ही बाजारपारा निवासी राधे धीवर उर्फ छोटू , आल्हा केवट, सेलर के बरभाठा निवासी मुरित राम कश्यप को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि वे बाहर थे। इसलिए रुपए मांगने और पिटाई करने की जानकारी नहीं है। एक आरोपी के गिरकर घायल होने की जानकारी मिली थी।

More Articles Like This

अनुशासनहीनता करने वाला ASI लाइन अटैच, आईजी से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई, क्या है मामला, पढ़े पूरी खबर…..

छत्तीसगढ़ के बिलासपुर में पुलिस पर गंभीर आरोप लगने के बाद SP ने ASI को लाइन अटैच कर दिया है। इसके साथ ही पूरे मामले की जांच के लिए सिटी कोतवाली CSP को निर्देशित किया है। दरअसल आरोपी ने असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर पर उसे लात-घूंसों से पीटने से सर फटने का आरोप लगाया है। इसके साथ ही उससे और 4 अन्य आरोपियों से 10 हजार रुपए मांगने का आरोप भी लगाया है। SP ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए यह कार्रवाई की है। मामला कोनी थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार बीते 24 जुलाई को कोनी थाना क्षेत्र के ग्राम पौंसरा के शराब दुकान में घुसकर युवकों ने सेल्समेन दुर्गा प्रसाद केवट की डंडे से पिटाई कर दी थी। सेल्समेन की रिपोर्ट पर पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी थी। इस मामले में एक आरोपी को पहले ही गिरफ्तार किया गया था।

पुलिस ने आरोपी युवक का चोट छिपाने के लिए उसके सिर में गमछा लगवा दिया।

मंगलवार को ASI गुलाब पटेल ने बचे हुए चार आरोपियों को गिरफ्तारी देने के लिए थाने बुलाया था। इनमें से पौंसरा के आवास पारा निवासी चैन सिंह ठाकुर (30) बुधवार की सुबह 11 बजे सरेंडर करने थाने पहुंचा। इसी दौरान उससे मारपीट की गई है। ऐसा आरोप चैन सिंह ठाकुर ने लगाया है।

घटना के बारे में किसी को कुछ न बताने के लिए कहा गया

आरोपी चैन सिंह का कहना है कि ASI गुलाब पटेल ने लात-घूंसों से उसकी पिटाई की, जिससे उसका सिर दीवार से टकराकर फट गया और वह लहूलुहान हो गया। उसकी हालत देखकर थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों के होश उड़ गए। उसे फौरन इलाज के लिए CIMS ले जाया गया। इलाज के लिए लेकर जाते समय उससे कहा गया कि वह घटना के बारे में किसी से कुछ न बताए। CIMS में भी डॉक्टर से ASI ने कहा कि वह गिर कर घायल हो गया है। डॉक्टर ने चैन सिंह से पूछा तो उसने अपने साथ हुई मारपीट की घटना की जानकारी दी। हालांकि डॉक्टर ने पर्ची में चोट का कारण गिरना ही लिखा है। उसके सिर में 6 टांके लगे हैं।

आरोपी की पिटाई करने का मामला कोनी थाने का है।

IG से शिकायत के बाद हुई कार्रवाई
आरोपी चैन सिंह और उसके परिजन गुरुवार को इस मामले की शिकायत करने IG ऑफिस पहुंचे। यहां चैन सिंह ने अपने सिर में आई चोटों को दिखाया और कहा कि थाने के CCTV फुटेज की जांच से स्पष्ट हो जाएगा कि वह सही सलामत थाने पहुंचा था या पहले से चोट लगी थी। उसने अपने शिकायत में पूरी घटना की जानकारी दी और ASI गुलाब पटेल पर रुपए मांगने के आरोप लगाए। इधर,IG तक शिकायत पहुंचने के बाद SP पारुल माथुर ने मामले को गंभीरता से लिया। उन्होंने ASI पर लगे आरोपों को अनुशासनहीनता और कर्तव्य के प्रति लापरवाही मानते हुए उसे लाइन अटैच कर दिया है। इसके साथ ही मामले की जांच के लिए सिटी कोतवाली CSP स्नेहिल साहू को जांच के लिए आदेशित किया है।

वाहवाही लूटने पुलिस ने गिरफ्तार करने मीडिया में दी जानकारी
कोनी TI सुखनंदन पटेल ने शराब दुकान में सेल्समेन की पिटाई करने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार करने की जानकारी दी है। उन्होंने बताया कि 26 जुलाई को आरोपी जनक सिंह उर्फ सुजीत को गिरफ्तार किया गया था। उनसे पूछताछ में अपने साथियों का नाम बताया था। इसके बाद से पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही थी। बुधवार को मुखबिर की सूचना पर पौंसरा के आवासपारा निवासी चैन सिंह ठाकुर, पौंसरा के ही बाजारपारा निवासी राधे धीवर उर्फ छोटू , आल्हा केवट, सेलर के बरभाठा निवासी मुरित राम कश्यप को दबिश देकर गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने यह भी बताया कि वे बाहर थे। इसलिए रुपए मांगने और पिटाई करने की जानकारी नहीं है। एक आरोपी के गिरकर घायल होने की जानकारी मिली थी।