Saturday, October 1, 2022

पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड का गेट लगा, 10 करोड़ की लागत से बनी इस बाईपास सड़क की जाने क्या हैं खूबियां

Must Read

पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड का गेट लगा, 10 करोड़ की लागत से बनी इस बाईपास सड़क की जाने क्या हैं खूबियां

संवादाता राजेन्द्र देवांगन =

मोहम्मद रज्जब =बिलासपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा निर्मित पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड का गेट सोमवार को लगाया गया. नेहरू चैक से जरहाभाठा मार्ग पर वेयर हाउस रोड के बाजू से स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने गौरव पथ तक सीधी पहुंच के लिए बाईपास रोड का निर्माण गत वर्ष किया. दो किस्तों में करीब 10 करोड़ की लागत से निर्मित इस रोड का नामकरण पं. श्यामलाल चतुर्वेदी के नाम पर किया गया. इसका लोकार्पण 3 जनवरी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया था.

लोकार्पण के मौके सीएम बघेल ने रोड पर ही पं. चतुर्वेदी की आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी किया. बता दें कि अंचल के वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार, छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष रहे पं. चतुर्वेदी को 2 अप्रैल 2018 को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर पद्मश्री सम्मान प्रदान किया. 7 दिसंबर 2018 को 92 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ था.ऑक्सीजोन वाले इस स्मार्ट रोड की कई खूबियां
स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा निर्मित पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड की कई खूबियां हैं. शहर के इस पहले स्मार्ट रोड पर अंडर ग्राउंड बिजली तार बिछाई गई है तथा बाक्स टाइप ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं, जो रोड की खूबसूरती बढ़ाते हैं. बारिश के पानी को बचाने के लिए अलग से ड्रेन बनाई गई है. 40 फुट चैड़ी इस सड़क की कुल लंबाई 914 मीटर है. हरियाली की दृष्टि से रोड के दोनों ओर पौधे लगाए गए थे, जो अब तेजी से बढ़ रहे हैं. सुगम आवागमन की दृष्टि से रोड पर पार्किंग प्रतिबंधित किया गया है. वहीं इस मार्ग पर व्यवसायिक उपयोग की अनुमति नहीं है. प्रथम चरण में 7.80 करोड़ की लागत से मुख्य मार्ग से मिट्टी तेल गली 720 मीटर तथा दूसरे चरण में तिरंगा चैक से स्मार्ट रोड तक 194 मीटर रोड का निर्माण 2.019 करोड़ से किया गया.

More Articles Like This

पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड का गेट लगा, 10 करोड़ की लागत से बनी इस बाईपास सड़क की जाने क्या हैं खूबियां

संवादाता राजेन्द्र देवांगन =

मोहम्मद रज्जब =बिलासपुर स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा निर्मित पद्मश्री पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड का गेट सोमवार को लगाया गया. नेहरू चैक से जरहाभाठा मार्ग पर वेयर हाउस रोड के बाजू से स्मार्ट सिटी लिमिटेड ने गौरव पथ तक सीधी पहुंच के लिए बाईपास रोड का निर्माण गत वर्ष किया. दो किस्तों में करीब 10 करोड़ की लागत से निर्मित इस रोड का नामकरण पं. श्यामलाल चतुर्वेदी के नाम पर किया गया. इसका लोकार्पण 3 जनवरी को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया था.

लोकार्पण के मौके सीएम बघेल ने रोड पर ही पं. चतुर्वेदी की आदमकद प्रतिमा का अनावरण भी किया. बता दें कि अंचल के वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार, छत्तीसगढ़ी राजभाषा आयोग के प्रथम अध्यक्ष रहे पं. चतुर्वेदी को 2 अप्रैल 2018 को भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उनके व्यक्तित्व व कृतित्व पर पद्मश्री सम्मान प्रदान किया. 7 दिसंबर 2018 को 92 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ था.ऑक्सीजोन वाले इस स्मार्ट रोड की कई खूबियां
स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा निर्मित पद्मश्री पं. श्यामलाल चतुर्वेदी स्मार्ट रोड की कई खूबियां हैं. शहर के इस पहले स्मार्ट रोड पर अंडर ग्राउंड बिजली तार बिछाई गई है तथा बाक्स टाइप ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं, जो रोड की खूबसूरती बढ़ाते हैं. बारिश के पानी को बचाने के लिए अलग से ड्रेन बनाई गई है. 40 फुट चैड़ी इस सड़क की कुल लंबाई 914 मीटर है. हरियाली की दृष्टि से रोड के दोनों ओर पौधे लगाए गए थे, जो अब तेजी से बढ़ रहे हैं. सुगम आवागमन की दृष्टि से रोड पर पार्किंग प्रतिबंधित किया गया है. वहीं इस मार्ग पर व्यवसायिक उपयोग की अनुमति नहीं है. प्रथम चरण में 7.80 करोड़ की लागत से मुख्य मार्ग से मिट्टी तेल गली 720 मीटर तथा दूसरे चरण में तिरंगा चैक से स्मार्ट रोड तक 194 मीटर रोड का निर्माण 2.019 करोड़ से किया गया.